इस साल अक्तूबर, 2018 से जुलाई तक कई लोग अपनी नौकरियां इस साल अप्रैल से सितंबर तक गंवाये, इस उद्योग की बिक्री में घटकर 10% रह गया।वाहनों के निर्माण में 15-20% की कमी से संघटक खंड प्रभावित हुआ।
ऑटो संघटक उद्योग का कुल कारोबार अप्रैल से सितंबर तक 10.1% से घटकर 1.79 लाख करोड़ रह गया।यह अब तक की सबसे बड़ी बूंद है।पिछले वर्ष इसी छमाही में कारोबार 1.99 लाख करोड़ रुपये का था।पिछले साल अक्तूबर से जुलाई तक एक लाख अस्थायी मजदूरों की नौकरियाँ भी काम चली गईं।ऑटोमोटिव कंपोनेंट मैन्यूफैक्टर्स एसोसिएशन (ए सी एम ए) ने शुक्रवार को यह सूचना दी।

घटक उद्योग का प्रदर्शन 80% से 50% तक घट गया।

एसीएमए के अनुसार, वर्तमान वित्तीय वर्ष की पहली छमाही में 2 बिलियन डॉलर का निवेश उद्योग में मंदी के कारण भी प्रभावित हुआ था।निर्यात में 2.7% से बढ़कर 51,397 करोड़ रु. हुआ.घटक आयात में 6.7% से गिरावट आयी 57,574 करोड़ रु.एसीएमए अध्यक्ष दीपक जैन कहते हैं कि वाहनों के सभी खंडों की बिक्री पिछले साल से घट रही है.वाहन में 15-20% की कमी से संघटक खंड निर्माण पर भी प्रभाव पड़ता है।

Leave a Reply